विधान सभा चुनाव: जिले में 12,490 से अधिक पोस्टर, बैनर, होरडिंगज़ हटाए

0
123
विधान सभा चुनाव: जिले में 12,490 से अधिक पोस्टर, बैनर, होरडिंगज़ हटाए
विधान सभा चुनाव: जिले में 12,490 से अधिक पोस्टर, बैनर, होरडिंगज़ हटाए

Jalandhar(S.K Verma):

चुनाव आयोग के निर्देशों की पालना करते हुए ज़िला प्रशासन ने राजनैतिक पार्टियों के 12,490 से अधिक पोस्टरों, बैनरों, होर्डिंग्स को जनतक और प्राईवेट प्रोपर्टीयों से हटा दिया है। इस के इलावा प्रशासन ने अलग -अलग कार्यकारी एजेंसियाँ की तरफ से शुरू किये और शुरू न किये कामों की सूची भी तैयार की है जिससे यह यकीनी बनाया जा सके कि संहिता लागू होने के बाद कोई नया काम शुरू न हो।
स्थानिय निकाए विभाग और पंचायती राज संस्थाओं की टीमों की तरफ से जनतक और प्राईवेट सम्पत्तियों से राजनैतिक प्रचार सामग्री हटाने से सम्बन्धित 24 घंटे मुहिम चलाई गई, जिस के फलस्वरुप आदर्श चुनाव संहिता के दिशा -निर्देशों की लगभग सौ प्रतिशत पालना हुई डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने इससे सम्बन्धित जानकारी देते हुए बताया कि समूह सम्बन्धित विभागों को पहले ही आदर्श चुनाव संहिता की सख्ती से पालना को यकीनी बनाने के निर्देश जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन की तरफ से अलग -अलग विभागों, जिन में पी.डब्ल्यू.डी., एन.एच.ए.आई., नगर निगम, मंडी बोर्ड, जंगलात, ट्रांसपोर्ट, पी.एस.पी.सी.एल आदि शामिल है, से कार्यवाही सम्बन्धित रिपोटें भी प्राप्त की जा रही हैं।उन्होंने आगे बताया कि कार्यकारी टीमों की तरफ से जनतक स्थानों से 40 वाल राइटिंगज , 5500 से अधिक पोस्टर, 5000 के करीब बैनर और 650 अन्य प्रचार सामग्री को हटाया गया। इसी तरह 35 प्राईवेट प्रापर्टीज वाल राइटिंगज, 1200 पोस्टर, 550 के करीब बैनर और अन्य 20 प्रचार आइटमों को हटा कर खाली करवाई गई । डिप्टी कमिश्नर ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि किसी को भी जनतक या निजी जायदाद पर राजनैतिक प्रचार करने की आज्ञ नहीं दी जायेगी और किसी भी उल्लंघन की रिपोर्ट होने पर चुनाव आयोग के दिशा -निर्देशों अनुसार कार्यवाही की जायेगी। डिप्टी कमिश्नर ने लोगों को किसी भी किस्म के उल्लंघन से सम्बन्धित भारत चुनाव अयोग की तरफ से शुरू की सी -विजिल एप पर रिपोर्ट करने की अपील की। उन्होंने बताया कि यह 100 मिनटों के अंदर शिकायत हल करने का सब से बढ़िया साधन है। उन्होंने बताया कि कुल 70 शिकायतें प्राप्त हुई थीं, जिन में से 65 पहले ही हल हो चुकी हैं, जिन में जालंधर केंद्रीय से 30 और जालंधर उत्तरी से 25 शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here