पंजाब में तीन दिवसीय पल्स पोलियो मुहिम 27 फरवरी से

0
95
पंजाब में तीन दिवसीय पल्स पोलियो मुहिम 27 फरवरी से
पंजाब में तीन दिवसीय पल्स पोलियो मुहिम 27 फरवरी से

Chandigarh(Sourabh Mittal):

तीन दिनों पल्स पोलियो मुहिम-2022 के सम्बन्ध चंडीगढ़ में स्टेट टास्क फोर्स की अहम मीटिंग प्रमुख सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग श्री राज कमल चौधरी की अध्यक्षता अधीन ऑनलाइन माध्यम के द्वारा हुई।
इस मीटिंग में एम.डी. एन.एच.एम. कुमार राहुल, एम.डी. पी.एच.एस.सी. भुपिन्दर सिंह, डायरैक्टर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डा. जी.बी. सिंह, डायरैक्टर स्वास्थ्य सेवाएं(प.भ.) डा. ओ.पी. गोजरा, असिस्टेंट डायरैक्टर डा. बलविन्दर कौर, विश्व स्वास्थ्य संगठन से डा. श्रीनिवासन, डा. विक्रम, पंजाब राज्य के समूह सिवल सर्जनों, टीकाकरण अधिकारी, विभिन्न विभागों के प्रतिनिधियों के द्वारा हिस्सा लिया गया।
पल्स पोलियो मुहिम के बारे अहम जानकारी देते हुये प्रमुख सचिव श्री चौधरी ने बताया कि राज्य में यह मुहिम आने वाली 27 फरवरी से शुरू होकर 1मार्च को मुकम्मल की जायेगी। उन्होंने बताया कि राज्य भर में स्वास्थ्य कर्मियों की तरफ से 0से 5साल के 31,08,660 नवजात बच्चों को पोलियो रोकथाम बूँदें पिलाई जाएंगी।
श्री चौधरी ने बताया कि राज्य भर में मुहिम के पहले दिन 14,468 पोलियो बूथ लगा कर बच्चों को बूँदें पिलाईं जाएंगी और दूसरे दिन 26,741 टीमों की तरफ से घर-घर जाकर बच्चों को यह बूँदें पिलाने की ज़िम्मेदारी लगाई गई है।
इसके अलावा प्रमुख सचिव श्री चौधरी ने बताया कि राज्य के में 848 मोबाइल टीमों और 764 ट्रांज़िट टीमों का गठन किया गया है जिनकी तरफ से हाई रिसक एरिया में रह रहे बच्चों को पोलियो बूँदें पिलाईं जाएंगी। उन्होंने यह भी बताया कि इस बार मुहिम के दौरान 4379 एएनएमज़, 19573 आशा वर्करज़, 21201 आंगणवाड़ी वर्कर और करीब 10145 वालंटियरज़ इस मुहिम को कामयाब बनाने के लिए लगाए गए हैं और इनकी निगरानी के लिए 3180 सुपरवाइज़र तैनात किये गए हैं।
इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग के डायरैक्टर (प.भ.) डा. ओ.पी. गोजरा ने बताया कि विभाग की तरफ से 8436 हाई रिसक एरिया की शिनाख़्त की गई है जिसमें से 4297 स्लम, 279 कंस्ट्रक्शन साईटें, 775 प्रवासी साईटें, 2064 ईंटों के भट्टे और 1021 अन्य साईट्स पर पोलियो बूंदें विभाग के कर्मियों द्वारा पिलाईं जाएंगी।
डा. ओ.पी. गोजरा ने बताया कि राज्य में पल्स पोलियो मुहिम की निगरानी के लिए डायरैक्टर कार्यालय के सीनियर अधिकारी बतौर ऑबज़रवर लगाए गए हैं जिनकी तरफ से राज्य के विभिन्न जिलों में तीन दिनों के लिए इस मुहिम का निरीक्षण किया जायेगा और इस बात को यकीनी बनाया जायेगा कोई भी योग्य बच्चा पोलियो बूँदें से वंचित न रहे।
इसके अलावा स्वास्थ्य डायरैक्टर ने बताया कि टास्क फोर्स की मीटिंग के दौरान मिशन इंद्र धनुष को भी विचारा गया और विभाग की तरफ से मिशन इंद्र धनुष के अंतर्गत मार्च से लेकर मई महीने तक तीन दौर के अंतर्गत दो सालों से छोटे बच्चे और गर्भवती महिलाओं का अपेक्षित टीकाकरण यकीनी बनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि कोविड महामारी के कारण टीकाकरण प्रक्रिया पर प्रभाव पड़ा है परन्तु मिशन इंद्र धनुष के अंतर्गत आने वाले दिनों में टीकाकरण मुहिम और ज़ोर पकड़ेगी।
उन्होंने बताया कि हालाँकि भारत सरकार की तरफ से यह विशेष मुहिम शुरुआती दौर में पंजाब के छह जिलों फरीदकोट, मानसा, संगरूर, पटियाला, जालंधर गुरदासपुर में शुरू करने सम्बन्धी हिदायतें हुई हैं परन्तु प्रमुख सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार भलाई विभाग श्री राज कमल चौधरी द्वारा इस मुहिम को पंजाब के सभी जिलों में चलाने के हुक्म किये गए।
स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव श्री चौधरी और स्वास्थ्य डायरैक्टर द्वारा विभाग के मास मीडिया विंग को पल्स पोलियो और इन्द्र धनुष मुहिम की जागरूकता फैलाने की भी हिदायत की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here