मिल्कफैड में स्टाफ की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी: हरपाल सिंह चीमा

0
123
मिल्कफैड में स्टाफ की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी: हरपाल सिंह चीमा
मिल्कफैड में स्टाफ की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी: हरपाल सिंह चीमा

Chandigarh(Davinder Garg):पंजाब के सहकारिता मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने आज यहाँ मिल्कफैड के मुख्य कार्यालय में सीनियर एग्जिक्युटिव के पद के लिए चुने गए 21 उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र सौंपे। इस पद के लिए 40 सीटें भरनी थीं परन्तु योग्य उम्मीदवार सिफऱ् 21 ही पाए गए और उन सभी को इस पद पर नियुक्त कर दिया गया है। इसके अलावा सहायक मैनेजरों के 52 पदों के लिए भी चयन प्रक्रिया चल रही है।
इस मौके पर हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि डेयरी किसानों और आम लोगों के साथ जुड़ी संस्था मिल्कफैड में मानवीय शक्ति (मैनपावर) की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मिल्कफैड में स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए पंजाब सरकार ने अलग-अलग स्तर के पदों की भर्ती के लिए 580 और पदों को मंजूरी दी है और इन पदों की भर्ती प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू की जाएगी।
उन्होंने नव-नियुक्त उम्मीदवारों को बधाई दी और पूरी निष्ठा और ईमानदारी से काम करने के लिए प्रेरित किया। सहकारिता मंत्री द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान और अब तक की मिल्कफैड की कारगुज़ारी की सराहना भी की। उन्होंने बताया कि मिल्कफैड के निरंतर प्रयासों के स्वरूप साल 2020-2021 के दौरान इस संस्था का सालाना टर्नओवर 4463 करोड़ रुपए के मुकाबले 2021-2022 के दौरान मिल्कफैड ने 4882 करोड़ रुपए का रिकॉर्ड कारोबार किया है।
विशेष मुख्य सचिव (सहकारिता) रवनीत कौर ने नवनियुक्त उम्मीदवारों को मिल्कफैड के निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सख़्त मेहनत करने और अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि दूध और दूध उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार के लिए मिल्कफैड की सभी वेरका डेरियों को और आधुनिक बनाया जाएगा। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि वेरका दूध उत्पादकों और उपभोक्ताओं को बढिय़ा सेवाएं और उत्पाद प्रदान करना सुनिश्चित बनाएगा।
मिल्कफैड के मैनेजिंग डायरैक्टर कमलदीप सिंह संघा ने कहा कि मानवीय शक्ति की कमी के बावजूद मिल्कफैड द्वारा वेरका के सभी उत्पादों की बिक्री में तेज़ी से वृद्धि देखी जा रही है और हरेक उत्पाद की विकास दर शानदार रही है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान मिल्कफैड ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के मुकाबले पैक्ड दूध में 10 प्रतिशत, दही में 38 प्रतिशत, लस्सी में 24 प्रतिशत और खीर में 30 प्रतिशत की सालाना वृद्धि दर्ज की है। इसी तरह मिल्कफैड ने डेयरी व्हाईटनर में 82 प्रतिशत, यूएचटी दूध में 31 प्रतिशत, घी में 14 प्रतिशत, स्वीटन्ड फलेवर्ड मिल्क (पीओ) में 39 प्रतिशत और लस्सी (टैटरा पैक) में 39 प्रतिशत की बिक्री की वृद्धि दर्ज की है। उन्होंने कहा कि मिल्कफैड में नई भर्ती होने से भविष्य में और भी बड़ी मंजिलें हासिल की जाएंगी।
फोटो कैप्शन: चण्डीगढ़ में मिल्कफैड के मुख्य दफ़्तर में सहकारिता मंत्री हरपाल सिंह चीमा मिल्कफैड में सीनियर एग्जिक्युटिव के पद के लिए चुने गए 21 उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र सौंपते हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here