पंजाब सरकार रोजाना ढिंढोरा पीटती है कि राज्य में अमन-शांति है, लेकिन हकीकत इसके बिलकुल विपरीत: अश्वनी शर्मा 

0
65
पंजाब सरकार रोजाना ढिंढोरा पीटती है कि राज्य में अमन-शांति है, लेकिन हकीकत इसके बिलकुल विपरीत: अश्वनी शर्मा
पंजाब सरकार रोजाना ढिंढोरा पीटती है कि राज्य में अमन-शांति है, लेकिन हकीकत इसके बिलकुल विपरीत: अश्वनी शर्मा

Chandigarh(Shubham Garg):

भारतीय जनता पार्टीपंजाब के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने गुरदासपुर के बटाला में अज्ञात अपराधियों द्वारा अकाली नेता की हत्या किए जाने पर पंजाब सरकार कीकार्यशैली तथा राज्य की बदतर कानून-व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े करते करते हुए इसे पंजाब की भगवंत मान सरकार का फेलियर तथा दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए इस हत्या पर गहरा शोक प्रकट किया। अश्वनी शर्मा ने मृतक के परिवार के साथ संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि पंजाब सरकार रोजाना ढिंढोरा पीटती है कि पंजाब में अमन-शांति है। पंजाब को बदनाम करने की साजिश हो रही है। जब कि पंजाब सरकार राज्य की जनता को सुरक्षा देने में पूरी तरह नाकाम साबित हुई है। 

       अश्वनी शर्मा ने कहा कि पंजाब में हत्याओं का क्रम रुक नहीं रहा। पंजाब सरकार सिर्फ ढिंढोरा पीटने वाली सरकार है और पंजाबियों का खून रोजाना बह रहा है। जिला गुरदासपुर के शहर बटाला में हुई अकाली नेता की हत्या का हवाला देते शर्मा ने कहा कि भगवंत मान सरकार सोई हुई है। सिर्फ बयानों से सुरक्षा नहीं मिलती। वारदात होने के बाद सारी पुलिस सक्रिय हो गई है और किसी को भी राज्य में लॉ एंड ऑर्डर खराब करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। यह बातें सिर्फ कहने तक ही सिमित रहती हैं और फिर से अपराधी कहीं और वारदात को अंजाम दे देते हैं। पंजाब सरकार सत्ता में अहंकार में मदहोश है। भगवंत मान सरकार अहंकार से भरी हुई सरकार है। भगवंत मान को सब कुछ हरा-हरा नज़र आता है।

                अश्वनी शर्मा ने कहा कि जब से आप सरकार पंजाब की सत्ता में आई है तब कोई भी ऐसा दिन नहीं गया जब राज्य में किसी ना किसी की हत्या, लूट की वारदात, स्नेचिंग ना हुई है। अब तो हालत यह है कि बेख़ौफ़ अपराधी पुलिस के नाक के नीचे पुलिस स्टेशनों के पास के बैंकों व अन्य कारोबारियों को दिन-दिहाड़े लूटने लगे हैं और पुलिस-प्रशासन मूकदर्शक बन कर तमाशा देख रहे हैं। लेकिन भगवंत मान सरकार राज्य में कानून-व्यवस्था ठीक होने की दुहाई देते नहीं थकती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here