जो सरकार प्रधानमंत्री को सुरक्षा ना दे सके, महामहिम राष्ट्रपति को उसे तुरंत बर्खास्त करें : सुरेश महाजन

0
165
जो सरकार प्रधानमंत्री को सुरक्षा ना दे सके, महामहिम राष्ट्रपति को उसे तुरंत बर्खास्त करें : सुरेश महाजन
जो सरकार प्रधानमंत्री को सुरक्षा ना दे सके, महामहिम राष्ट्रपति को उसे तुरंत बर्खास्त करें : सुरेश महाजन

Amritsar(Rajeev Sharma):

 प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर देश भर में विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। फिरोजपुर के गाँव प्यारेअन्ना में किसानों के धरने के कारण प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। पुलिस ने नाम केवल किसानों को प्रधानमन्त्री के सड़क मार्ग से जाने की जानकारी दी, बल्कि बठिंडा से फिरोजपुर जाने वाले सड़क मार्ग पर यातायात भी नहीं रोका गया और पुलिस ने किसानों को बीच सड़क से नहीं हटाया। इस घटना के विरोध में देश भर में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्त्ता प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी की सुरक्षा में की गई चूक को लेकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी अमृतसर के अध्यक्ष सुरेश महाजन की अध्य्क्षता में सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने इकट्ठे होकर अमृतसर के कचहरी चौक पर पंजाब सरकार के विरुद्ध विरोध-प्रदर्शन किया। इस अवसर पर भारत के राष्ट्रपति के नाम अमृतसर के जिलाधीश को अपना माँगपत्र भी सौंपा और पंजाब की चन्नी सरकार की तुरंत बर्खास्तगी की माँग की।

सुरेश महाजन ने इस अवसर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जो सरकार देश के प्रधानमंत्री को सुरक्षा नहीं दे सकती, उसको तुरंत बर्खास्त कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि 5 जनवरी को फिरोजपुर में प्रधानमंत्री मोदी की एक जनसभा आयोजित की गई थी, जिसमें प्रधानमंत्री ने पंजाब को 42,750 करोड़ रूपये की योजनाओं की सौगात देनी थी। पंजाब सरकार के निकम्मेपन के कारण पंजाब इस सब से वंचित रह गया। उन्होंने कहा कि बठिंडा से फिरोजपुर के रास्ते में प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर स्थिति साफ़ होने लगी है। प्रधानमंत्री के हैलीकॉप्टर से रैली स्थल पर जाने के तय प्लान के अलावा सड़क मार्ग के वैकल्पिक रूट चार दिन पहले ही तय कर लिए गए थे। इस बारे में एक दिन पहले ही एस.पी.जी. व पंजाब पुलिस ने वैकल्पिक मार्ग पर रिहर्सल भी कर ली थी।

सुरेश महाजन ने कहा कि पंजाब के डी.जी.पी. ने सड़क मार्ग से प्रधानमंत्री के काफिले को जाने की क्लीयरेस भी दी थी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर तय प्रोटोकोल के हिसाब से चूक को लेकर पंजाब पुलिस अपनी जिम्मेवारी से बच नहीं सकती। यह प्रदेश की कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही है। उन्होंने कहा कि चन्नी सरकार की इस हरकत ने पंजाब व पंजाबियत का सिर शर्म से झुका दिया है।

सुरेश महाजन ने माँग की कि प्रदेश के गृहमंत्री व डी.जी.पी. पंजाब को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त किया जाए। महाजन ने चन्नी सरकार को भी बर्खास्त कर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की माँग की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने सुरक्षा के मामले में हुई चूक को गंभीरता से लिया है और इस घटना के जिम्मेवार लोगों को सबके सामने लाया जाएगा।

सुरेश महाजन ने कहा कि प्रोटोकोल के मुताबक एस.पी.जी. की ब्लू बुक के पहले चैप्टर के पहले रूल में ही स्पष्ट है कि किसी भी राज्य में यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेवारी संबंधित राज्य सरकार की होती है और एस.पी.जी. की जिम्मेवारी प्रधानमन्त्री को नजदीकी सुरक्षा मुहैया करवाने की होती है। चैप्टर के दूसरे रूल में कहा गया है कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा का पूरा इंतजाम राज्य पुलिस करेगी और इन सभी रूल्स को अमलीजामा पहनाने की जिम्मेवारी राज्य के पुलिस महानिदेशक की होगी। जिसमें कि प्रदेश का गृह-विभाग, पुलिस और सरकार निष्क्रिय और विफल रही है। जिसे सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। सरकार की इस हरकत के कारण देश भर में लोग कांग्रेस सरकार के विरुद्ध अपने रोष-प्रदर्शन कर रहे हैं। इस अवसर पर प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष राकेश गिल, प्रदेश भाजपा सचिव एडवोकेट राजेश हनी, राहुल महेश्वरी, सलिल कपूर, बलविंदर बब्बा, कंवरबीर सिंह मंजिल, कंवर जगदीप सिंह, पप्पू महाजन, डॉ. बलदेव राज चावला, आनंद शर्मा, वरिंदर धुन्ना, अमरजीत कौर, जिला महासचिव राजेश कंधारी, डॉ. राम चावला, डॉ. राकेश शर्मा, सरबजीत सिंह शंटी, डॉ. हरविंदर सिंह संधू, राजीव शर्मा डिम्पी, मोहित महाजन, एकता वोहरा, विनोद नंदा, सतपाल डोगरा, संजय कुंद्रा, संजीव कुमार, गौतम अरोड़ा, अलका शर्मा आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here