डिप्टी कमिश्नर ने वोटरों को चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की पृष्टभूमि और अपराधिक रिकार्ड के बारे में जानने के लिए ‘नो योओर कैंडीडेट’ एप डाउनलोड करने की अपील की

0
120
डिप्टी कमिश्नर ने वोटरों को चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की पृष्टभूमि और अपराधिक रिकार्ड के बारे में जानने के लिए 'नो योओर कैंडीडेट' एप डाउनलोड करने की अपील की
डिप्टी कमिश्नर ने वोटरों को चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की पृष्टभूमि और अपराधिक रिकार्ड के बारे में जानने के लिए 'नो योओर कैंडीडेट' एप डाउनलोड करने की अपील की

Jalandhar(S.K Verma):

डिप्टी कमिश्नर -कम -ज़िला चुनाव अधिकारी घनश्याम थोरी ने आज मतदाताओं को विधान सभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के विवरण और अपराधिक पृष्टभूमि के बारे में जानने के लिए ‘नो योओर कैंडीडेट ’ (अपने उम्मीदवार को जानो) एप को बड़ी संख्या में डाउनलोड करने का न्योता दिया ,जिससे उम्मीदवारों के बारे में विस्थारपूर्वक जानकारी प्राप्त की जा सके। डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि यह एप पारदर्शी चुनाव को यकीनी बनाने के लिए चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की अपराधिक पृष्टभूमि के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता प्रदान करने के लिए तैयार की गई है। इस एप को गुग्गल प्ले स्टोर और एपल एप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है और इसका लिंक आयोग की वैबसाईट पर भी उपलब्ध है। उन्होंने आगे बताया कि नामांकन प्रक्रिया दौरान उम्मीदवारों की तरफ से जमा करवाए गए सभी स्कैन दस्तावेज़ वोटरों की जागरूकता के लिए इस मोबाइल ऐपलीकेशन पर अप्पलोड किए जाते है।


भारतीय चुनाव आयोग के डिप्टी चुनाव कमिश्नर नितेश व्यास की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में भाग लेते हुए डिप्टी कमिशनर, जिनके साथ अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (विकास) जसप्रीत सिंह भी मौजूद थे, ने ज़िला प्रशासन की तरफ से स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव करवाने के लिए किए जा रहे प्रबंधों के बारे में आयोग को अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि जालंधर में पारदर्शी चुनाव के लिए प्रशासन की तरफ से चुनाव सम्बन्धित सभी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा चुका है और ज़िला चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने चुनाव आयोग को पुलिस और सिविल प्रशासन की तरफ से बड़े स्तर पर नाजायज शराब ज़ब्त करने और गड़बड़ी करने वालों विरुद्ध कार्यवाहियों के साथ चुनाव में पैसे और ताकत के प्रयोग को रोकने के लिए अपनाए प्रयासों के बारे में भी जानकारी दी।चुनाव तैयारियों के बारे में और ज्यादा जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि पोलिंग स्टेशनों पर वैबकास्टिंग की सुविधा के इलावा जिले में 59 माडल पोलिंग स्टेशन स्थापित किए जाएंगे, जबकि 9पोलिंग स्टेशन इस प्रकार के होंगे, जो महिलाओं की तरफ से संचालित किये जाएंगे और एक पोलिंग स्टेशन पी.डब्लयू.डीज़. की तरफ से संचालित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि सभी 1975 पोलिंग स्टेशनों के लिए सैक्टर अधिकारी, विशेष कार्यकारी मैजिस्ट्रेट और सैक्टर मैजिस्ट्रेट तैनात किये गए है। उन्होंने बताया कि चुनाव प्रक्रिया को पूरा करने के लिए तैनात 18131 कर्मचारियों के पूरे टीकाकरण के इलावा 5340 अहत्याती ख़ुराक भी लगाई जा चुकी है। उन्होंने चुनाव आयोग को बताया कि सी -विजिल और 1950 काल सैंटर पर प्राप्त 353 और 293 शिकायतों का निपटारा किया जा चुका है। इसी तरह जालंधर जिले में 1.63 लीटर नाजायज शराब बरामद करने के इलावा आदर्श चुनाव सहिंता का उल्लंघन करने पर 15 के करीब एफ.आई.आर. दर्ज की जा चुकी है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि पी.डब्लयू.डी. वोटरों, सीनियर सिटीज़न (80 साल से अधिक आयु वाले) को बैलट पेपर वोटिंग, पिक एंड ड्राप सुविधा, पोलिंग स्टेशनों पर सहायता आदि जैसी सेवाओं की सुविधा के लिए व्यापक प्रबंध किये जा रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here