ईडी ने जिस मुख्यमंत्री और उसके भांजे से 10 करोड़ रूपये वसूले वह गरीब मुख्यमंत्री नही हो सकता: सरदार सुखबीर सिंह बादल

0
124
ईडी ने जिस मुख्यमंत्री और उसके भांजे से 10 करोड़ रूपये वसूले वह गरीब मुख्यमंत्री नही हो सकता: सरदार सुखबीर सिंह बादल
ईडी ने जिस मुख्यमंत्री और उसके भांजे से 10 करोड़ रूपये वसूले वह गरीब मुख्यमंत्री नही हो सकता: सरदार सुखबीर सिंह बादल

Ludhiana(Rahul Goel):

शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने आज कहा है कि एक मुख्यमंत्री जिसके भांजे से 10 करोड़ रूपये नकद और 56 करोड़ रूपए का सोना और अवैध रूप से प्राप्त संपत्ति के कागजात ईडी द्वारा बरामद किए गए , उसे किसी भी तरह से गरीब नही कहा जा सकता।
अकाली दल अध्यक्ष , कांग्रेस नेता राहुल गांधी के चन्नी के  गरीब मुख्यमंत्री होने क  दावे के संबंध में  एक सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होने कहा कि  स्पष्ट रूप से जिसने अवैध कॉलोनियां काटने से लेकर रेत माफिया बनने तक इतनी ज्यादा कमाई की है , जिसकी कीमत 500  करोड़ रूपये से अधिक है’’। अगर हम चन्नी की दौलत को मापने के लिए राहुल गांधी के मापदंड का इस्तेमाल करे तो गांधी परिवार भी बहुत गरीब है’’।

यह कहते हुए कि मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने न केवल पंजाबियों बल्कि अनुसूचित जाति समुदाय के साथ साथ समाज के कमजोर वर्गों को धोखा दिया है। सरदार बादल ने चन्नी से यह बताने के लिए कहा कि उन्होने अनुसूचित जाति समुदाय और कमजोर वर्गों के पक्ष में कभी आवाज क्यों नही उठाई। उन्होने कहा कि यह सच है कि चन्नी मुख्यमंत्री बनने से पहले करीब पांच साल तक कैबिनेट मंत्री रहे  हैं। ‘‘ हालंकि उन्होने  4.5 लाख अनुसूचित जाति छात्रों के हितों की रक्षा के लिए कभी आवाज  नही उठाई, जिन्हे न केवल एस सी छात्रवृत्ति से वंचित कर दिया गया, बल्कि जिनकी छात्रवृत्ति को उनके कैबिनेट के सहयोगी- साधु सिंह धर्मसोत ने गबन कर लिया था’’। उन्होने कहा कि इसी तरह चन्नी ने लाखों नीले कार्डों को रदद करने पर कोई आपत्ति नही की , जो कमजोर वर्गों को सब्सिडी वाले राशन के हकदार बनाते थे।

सरदार बादल ने यह भी स्पष्ट किया कि मुख्यमंत्री पद के चेहरे की कोई भी घोषणा पार्टी को नही बचा सकती है। ‘‘कांग्रेस पार्टी का जहाज पंजाब में दिनो दिन डूबता चला जा रहा है’’। एक सवाल का जवाब देते हुए सरदार बादल ने कहा कि नवजोत सिद्धू ने कहा था कि वह दिखावटी घोड़े की तरह काम नही करेंगें, लेकिन अब राहुल गंाधी ने न केवल घोड़े का बांध दिया, बल्कि अस्तबल में भी बंद कर दिया’’।

आम आदमी  पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के बारे में पूछे जाने पर अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि पांच साल पहले केजरीवाल ने पंजाबियों से बड़े बड़े वादे करके वोट मांगें थे। ‘‘ हालांकि वह पांच साल तक राज्य में वापिस नही आया। उनके बीस में से 11 विधायकों ने पार्टी छोड़ दी। आज वह पार्टी टिकट बेचने के लिए करोड़ों रूपये कमाने के लिए राज्य में वापिस आए हैं, यहां तक कि उन्होने  अपराधियों और भ्रष्ट अतीत वालों को भी टिकट दिया है। आम आदमी पार्टी के लुधियाना नॉर्थ के उम्मीदवार मदन लाल बग्गा को उनके संदिग्ध व्यवहार के कारण अकाली दल से निष्कासित कर दिया गया था। पार्टी की लुधियाना सेंट्रल का उम्मीदवार बलात्कार का आरोपी है। आप  पार्टी का सनौर उम्मीदवार भगोड़ा अपराधी है , और उसने प्रचार को बीच में ही छोड़ दिया है।

सरदार बादल ने शहर के अपने दौरे के दौरान लुधियाना नॉर्थ में आर डी शर्मा के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया। उन्होने कहा कि कांग्रेस के शासन के दौरान कानून -व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से चरमरा गई थी, क्योंकि उसके मंत्रियों और विधायकों ने गैंगस्टरों को संरक्षण दिया था। ‘‘ यही कारण है कि पिछले पांच सालों के दौरान जबरन वसूली और फिरौती आम घटनाएं बन गई थी। उन्होने गैंगस्टर कल्चर को हमेशा के लिए खत्म करने का वादा किया।

अकाली दल अध्यक्ष ने कहा कि आम आदमी पार्टी और उसके संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब के लिए कभी खड़े नही हुए। ‘‘ वास्तव में केजरीवाल ने राज्य से संबंधित सभी महत्वपूर्ण मुददों पर सुप्रीम कोर्ट में लगातार पंजाब विरोधी रूख अपनाया है। इसमें राज्य के नदी जल अधिकारों को हरियाणा और दिल्ली स्थानांतरित करना, पंजाब के चार थर्मल प्लांटों को बंद करना और पंजाब के किसानों के खिलाफ जिन्होने सरकार से मदद न मिलने पर पराली को जला दिया था , के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज करने की मांग भी शामिल है।

सरदार बादल जिनका पूरे शहर  में बड़ी गर्मजोशी से स्वागत हुआ, ने चावनी मोहल्ला में घर घर जाकर प्रचार करने के अलावा चंदर नगर और दीप नगर में जनसभाएं की। उन्होने गुरुद्वारा सेखेवाल में भी माथा टेका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here