अंग्रेज़ भारत को लगातार लूटते रहे, परन्तु कांग्रेस और भाजपा ने बारी से लूटा-मुख्यमंत्री

0
107
अंग्रेज़ भारत को लगातार लूटते रहे, परन्तु कांग्रेस और भाजपा ने बारी से लूटा-मुख्यमंत्री
अंग्रेज़ भारत को लगातार लूटते रहे, परन्तु कांग्रेस और भाजपा ने बारी से लूटा-मुख्यमंत्री

Chandigarh(Sourabh Mittal):

देश को लूटने के लिए कांग्रेस और भाजपा पर बरसते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज कहा कि अंग्रेज़ों ने भारत को 200 साल गुलाम बनाया, परन्तु आज़ादी के बाद कांग्रेस और भाजपा ने हमें बारी से पाँच-पाँच साल के लिए गुलामी में रखा।

आज यहाँ एक प्रभावशाली जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा ने लोगों का पैसा लूटने के लिए एक-दूसरे के साथ दोस्ताना मैच खेला। उन्होंने कहा कि अंग्रेज़ों की तरह इन पार्टियों ने भी लोगों के हकों पर डाका मारा, परन्तु लोगों के पास उनको बार-बार चुनने के अलावा अन्य कोई चारा भी नहीं था। भगवंत मान ने कहा कि अब ‘आप’ के रूप में लोगों को देश में बदलाव लाने के लिए विकल्प मिला है और लोग ‘आप’ को चुनकर भाजपा और कांग्रेस को नकार रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व अधीन दिल्ली से शुरू हुई बदलाव की आँधी ने पंजाब में अपना पूरा प्रभाव दिखाया और अब यह समूचे देश में झाड़ू फिरने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि ‘आप’ हिमाचल प्रदेश में भी राजनीतिक तूफान लाने के लिए तैयार है और कांग्रेस एवं भाजपा को पहाड़ी राज्य से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा। भगवंत मान ने लोगों को एक नया और खुशहाल हिमाचल सृजन करने के लिए कांग्रेस और भाजपा को सत्ता से एक तरफ़ करने की अपील की।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 साल की उम्र पार करने के बावजूद नहरू-गाँधी परिवार का यह सुपुत्र आज भी नौजवान नेता है। उन्होंने कहा कि 37 साल की उम्र पार करने के बाद किसी नौजवान को सरकारी नौकरी देने से तो रोक दिया जाता है परन्तु दूसरी ओर 94 साल का व्यक्ति विधायक या एम.पी. बनने के लिए चुनाव लड़ता है जोकि सरासर गलत है। भगवंत मान ने कहा कि ‘आप’ देश में बदलाव का केंद्र है, जिसकी झलक पंजाब में आप के 70 से अधिक विधायकों से दिखाई दे जाती है, क्योंकि  यह विधायक 35 साल से भी कम उम्र के हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने जहाँ स्कूलों को मिड-डे-मील की इमारतों में तबदील कर दिया, वहीं दिल्ली और पंजाब की ‘आप’ सरकारों ने उनको ‘शिक्षा के मंदिर’ में बदल दिया, जहाँ से नौकरियाँ देने वाले पैदा किए जा रहे हैं, ना कि नौकरियाँ माँगने वाले। मानक शिक्षा को सभी समस्याओं का एकमात्र समाधान बताते हुए उन्होंने कहा कि यह ऐसा शक्तिशाली साधन है जो लोगों के जीवन को बदल सकता है। भगवंत मान ने कहा कि मानक शिक्षा के द्वारा आम आदमी को सक्षम बनाने के लिए लोगों को ‘आप’ का समर्थन करना चाहिए, जैसे कि दिल्ली और पंजाब में हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केवल नेताओं के बोलने से गरीबी दूर नहीं होगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा वह रास्ता है जो लोगों के जीवन का स्तर ऊँचा उठाकर गरीबी से बाहर निकाल सकती है। भगवंत मान ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के लोग पहाड़ी राज्य की कायाकल्प के लिए दिल्ली और पंजाब जैसी ईमानदार और काम करने वाली सरकार चाहते हैं।

हिमाचल प्रदेश के लोगों के साथ भावुक सांझ प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री ने उन दिनों को याद किया जब वह राज्य के दौरे पर आते थे। उन्होंने कहा कि देव भूमि हिमाचल प्रदेश भाग्यशाली धरती है और यहाँ आकर अपने आप को सौभाग्यशाली समझते हैं। भगवंत मान ने यह भी कहा कि हिमाचल प्रदेश के नौजवान बहुत प्रतिभाशाली और काबिल हैं और अब समय आ गया है जब राज्य की तरक्की और यहाँ के लोगों की खुशहाली के लिए उनकी अथाह क्षमता को तलाशा जाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here