पंजाब सरकार को इस विकट स्थिति से तुरंत निपटे, क्योंकि चिकित्सा सुविधाएं लोगों का बुनयादी अधिकार: भाजपा

0
56
पंजाब सरकार को इस विकट स्थिति से तुरंत निपटे, क्योंकि चिकित्सा सुविधाएं लोगों का बुनयादी अधिकार: भाजपा
पंजाब सरकार को इस विकट स्थिति से तुरंत निपटे, क्योंकि चिकित्सा सुविधाएं लोगों का बुनयादी अधिकार: भाजपा

Chandigarh(Shubham Garg):

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना’ के तहत पंजाब के निजी अस्पतालों में मरीजों को मिल रहे मुफ्त ईलाज के बंद होने पर गहरी चिंता प्रकट करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी द्वारा देश की जनता के स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को मुख्य रख कर शुरू की गई थी और इस प्रमुख स्वास्थ्य परियोजना के तहत पंजाब में मरीजों को मुफ्त ईलाज ना मिलने से जनता को बहुत नुकसान हो रहा है। अश्वनी शर्मा ने कहा कि यह सब मुख्यमंत्री भगवंत मान की गलत नीतियों के कारण हो रहा है। बुनियादी चिकित्सा सुविधा पाना राज्य की जनता का बुनियादी अधिकार है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि ‘आयुष्मान भारत योजना’ पंजाब की आबादी के वंचित वर्ग के लिए एक वरदान थी। क्यूंकि आज चिकित्सा खर्च बहुत अधिक है और लोग महंगे चिकित्सा उपचार नहीं करवा सकते थे। इस योजना के तहत पैनल में शामिल अस्पतालों ने मरीजों के ईलाज की पेशकश की और इस योजना के तहत प्रत्येक कार्ड धारक परिवार के प्रत्येक व्यक्ति को पांच लाख रुपए तक के ईलाज फ्री सुनिश्चित किया गया। लेकिन बहुत ही शर्म की बात है कि भगवंत मान सरकार ने मार्च के बाद से पंजाब के अस्पतालों को अपने हिस्से का भुगतान नहीं किया जिस कारण अस्पतालों ने मरीजों का ईलाज बंद कर दिया है, जिससे मरीजों तथा उनके परिजनों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मैंने इस मुद्दे को विधानसभा में भी उठाया था।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने हमेशा यह दिखाने की कोशिश की है कि वह पंजाब की जनता तथा वंचितों के लिए चिकित्सा सुविधाओं के प्रति संवेदनशील है और दिल्ली में अपने मोहल्ला क्लीनिकों की गाथाओं को रोल मॉडल के रूप में पेश करती है। आप सरकार के इस रवैये से पंजाब की जनता चिकित्सा उपचार पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं।

 ज्ञात रहे कि निजी अस्पतालों ने ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत मरीजों का ईलाज करना बंद कर दिया है, क्योंकि भगवंत मान सरकार ने अपने हिस्से का उनका पिछला बकाया नहीं चुकाया। अश्वनी शर्मा ने मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान से केवल गरीब समर्थक होने के दुष्प्रचार करने से ऊपर उठने और राज्य के बीमार लोगों द्वारा सामना की जा मुश्किलों व अन्य गंभीर मुद्दों को सामने रख कर निजी अस्पतालों का बकाया तुरंत चुकाने का आग्रह किया, ताकि निजी अस्पताल वंचित रोगियों का ईलाज शुरू करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here