पंजाब के आबकारी विभाग द्वारा स्कॉच की बोतलों में नकली शराब भरने वाले गिरोह का पर्दाफाश

0
166
पंजाब के आबकारी विभाग द्वारा स्कॉच की बोतलों में नकली शराब भरने वाले गिरोह का पर्दाफाश
पंजाब के आबकारी विभाग द्वारा स्कॉच की बोतलों में नकली शराब भरने वाले गिरोह का पर्दाफाश

Chandigarh(Arun Gupta):पंजाब के आबकारी विभाग और जि़ला पुलिस फतेहगढ़ साहिब द्वारा शराब तस्करों के एक संगठित गिरोह का पर्दाफाश किया गया है। यह गिरोह चण्डीगढ़ से सस्ती शराब की तस्करी करके उसको महंगे इम्पोर्टड स्कॉच ब्रांडों की बोतलों में भरता था। गिरोह के 4 सदस्यों को नकली शराब समेत काबू किया गया, जिनके पास से शीवास रीगल के 4 केस, ग्लेनलिवट के 4 केस और गोल्ड लेबल रिज़र्व के 2 केस मौके पर मिले हैं।
आबकारी कमिश्नर वरुण रूज़म ने बताया कि पंजाब सरकार ने शराब की तस्करी या आबकारी से सम्बन्धित किसी भी ग़ैर-कानूनी गतिविधि के विरुद्ध ज़ीरो सहनशीलता नीति अपनाई हुई है। उन्होंने कहा कि मुलजि़मों के खि़लाफ़ कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए संयुक्त आबकारी कमिश्नर नरेश दुबे ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि एक संगठित गिरोह चण्डीगढ़ से पंजाब में सस्ती शराब की तस्करी करके इसको महंगे स्कॉच ब्रांडों की बोतलों में भरता है। आबकारी विभाग के स्पैशल ऑपरेशन ग्रुप (एस.ओ.जी.) और जि़ला पुलिस फतेहगढ़ साहिब के साझे प्रयासों के साथ यह ख़ुफिय़ा जानकारी हासिल की गई थी।
दो दिन पहले टीम को सूचना मिली कि मुलजि़म कुंदन विष्ट पुत्र मोहन सिंह निवासी मकान नंबर 226 गाँव कझेड़ी, चण्डीगढ़ अपने गिरोह के मैंबर के साथ मिलकर नकली स्कॉच शराब की स्पलाई करेगा। मुलजि़मों को रंगे हाथों पकडऩे के लिए आबकारी और पुलिस के स्पैशल ऑपरेशन ग्रुप की टीमें हरकत में आईं और विशेष नाकाबंदी की गई। टीमों को उस समय सफलता मिली जब दो कारें टाटा टियागो सीएच01बीवी9460 और स्विफ्ट एचआर51बीडी5918 को खमाणों के नज़दीक नाके पर रोका गया और गिरोह के चार मैंबर कुंदन विष्ट, हर्षवर्धन पुत्र सतीश्वर प्रसाद निवासी मकान नं. 19, डिफेंस कालोनी अम्बाला, प्रदीप सिंह पुत्र जगदेव सिंह निवासी गाँव नरायणगढ़, जि़ला जींद, हरियाणा और जैसमीन कौर पुत्री राजवीर सिंह निवासी संगरूर को मौके से काबू किया गया। टीम ने मौके पर शीवास रीगल के 4 केस, ग्लेनलविट के 4 केस और गोल्ड लेबल रिज़र्व के 2 केस बरामद किये।
पूछताछ के दौरान गिरोह के सदस्यों ने आगे खुलासा किया कि वह चण्डीगढ़ से सस्ती शराब की तस्करी करते हैं और अपनी किराये के रिहायश में इस शराब को महँगी स्कॉच की खाली बोतलों में भर देते हैं। बाद में टीम ने प्रदीप सिंह और जैसमीन कौर के मदनपुर, जि़ला मोहाली में किराए के मकान पर छापा मारकर 2 केस हाई स्पीड (चण्डीगढ़ में बिक्री के लिए), 2 केस किंग गोल्ड (चण्डीगढ़ में बिक्री के लिए), एक केस यू.के. नं. 1 (चण्डीगढ़ में बिक्री के लिए), यू.के. नं. 1 की 150 खाली बोतलों (चण्डीगढ़ में बिक्री के लिए), हाई स्पीड विस्की की 21 खाली बोतलों, सिंगलटन विस्की की 3 खाली बोतलों, ब्लैक लेबल जॉनी वॉकर की 5 खाली बोतलों, ब्लू लेबल की 14 खाली बोतलों, गलेनलिवट के 5 डिब्बे, ब्लैक डॉग गोल्ड के 2 डिब्बे, गलेनफिडिच 15 इयरज़ का एक डिब्बा और गलेनलिवट, गलेनफिडिच और ब्लैक लेबल ब्रांडों के ढक्कन ज़ब्त किये।
पूछताछ के दौरान मुलजि़मों ने यह भी माना कि वह मोहाली और लुधियाना क्षेत्र के अलग-अलग स्क्रैप डीलरों से स्कॉच ब्रांड की खाली बोतलें खरीदते हैं और वह भी इस रैकेट में शामिल हैं। पुलिस की टीमें इन डीलरों का पता कर रही हैं और गिरफ़्तारी के लिए उनके टिकानों पर छापेमारी की जा रही है।
कुंदन विष्ट, हर्षवर्धन, प्रदीप सिंह और जैसमीन कौर के खि़लाफ़ पंजाब आबकारी एक्ट की धारा 61 /1/14 और 78(2) और आई.पी.सी. की धारा 420 और 120-बी के अंतर्गत पुलिस थाना खमाणों में एफआईआर नं. 60 तारीख़ 26-05-2022 दर्ज की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here