पंजाब सरकारी प्रशिक्षण संस्थाओं के द्वारा ऑयल्स का प्रशिक्षण देने वाला पहला राज्य बना

0
119
पंजाब सरकारी प्रशिक्षण संस्थाओं के द्वारा ऑयल्स का प्रशिक्षण देने वाला पहला राज्य बना
पंजाब सरकारी प्रशिक्षण संस्थाओं के द्वारा ऑयल्स का प्रशिक्षण देने वाला पहला राज्य बना

Chanidgarh(Sourabh Mittal):

राज्य के नौजवानों को गुणात्मक और विश्व स्तरीय शिक्षा प्रदान करने के मद्देनज़र पंजाब सरकार ने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी प्रैस इंडिया के सहयोग से सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं (आई.टी.आई.) के द्वारा ऑयल्स की कोचिंग देने का नया विचार शुरू किया है। कैब्रिज़ यूनिवर्सिटी प्रैस इंडिया कैंब्रिज़ यूनिवर्सिटी प्रैस यू के की एक सहायक कंपनी है, जो कि कैंब्रिज यूनिवर्सिटी का प्रकाशन कारोबार है और शैक्षिक पाठ्यक्रमों और शिक्षा सामग्री को विकसित और प्रकाशित करती है।

यूनिवर्सिटी के साथ समझौता (एमओयू) सहीबद्ध करने के लिए आज यहाँ हुए समागम के दौरान पंजाब के तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने कहा कि हर साल लगभग 6लाख पंजाबी विद्यार्थी ऑयल्स की तैयारी करते हैं और ऐसे विद्यार्थियों के लिए नये शैक्षिक मौके खोजना ही समय की माँग है। उन्होंने कहा कि इस पहलकदमी का उद्देश्य राज्य में एक ऐसा माहौल सृजन करना है जहाँ हमारे विद्यार्थियों के सामर्थ्य को विश्व स्तरीय बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि अगर पूरे विश्व की बात करें तो भारत में नौजवान आबादी सबसे अधिक है और इसको विलक्षण शिक्षा की ज़रूरत है।


कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस समझौते में एक अधिकारित परीक्षा केंद्र के द्वारा ट्रेनरों के लिए एक अध्यापक प्रशिक्षण प्रोग्राम शामिल है और यूनिवर्सिटी द्वारा टीचिंग माड्यूल के साथ-साथ सामग्री और अध्यापन भागीदार भी प्रदान किये जाएंगे। ‘‘पंजाब भारत का एक प्रमुख प्रवास राज्य है जहाँ बहुत व्यापक प्रवासी संख्या में मौजदू है, जो अपनी मेहनत और उद्यमिता के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने दुनिया के बहुत से देशों में अपने आप को स्थापित किया है, जहाँ रहने, काम करने या अध्ययन करने के लिए जाने वालों की संख्या दिनों -दिन बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि हम यह पता लगाना चाहते हैं कि उनके बाहर जाने से पहले उनको अंग्रेज़ी या अन्य विदेशी भाषाओं में बेहतर प्रशिक्षण कैसे दिया जा सके जिससे विदेश जाकर वह आसानी से नौकरियाँ प्राप्त करने के योग्य हो सकें।


राणा गुरजीत सिंह ने विशेष तौर पर ज़िक्र करते हुये कहा कि राज्य के नौजवानों को सरकार द्वारा सरकारी आई.टी.आईज और सरकारों में ऑयल्स की कोचिंग और प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए कैंब्रिज यूनिवर्सिटी प्रैस इंडिया के साथ समझौता करना पंजाब के लिए बहुत मान वाली बात है। पंजाब भर में पोलीटेकनिक कालेज हर ज़िला रोज़गार और उद्यम ब्यूरोज (डीबीईईज़) की एक बहुत ही मज़बूत प्रणाली के द्वारा कानूनी रास्तों के द्वारा विदेशों में नौजवानों के प्रवास की सुविधा के लिए पंजाब में विदेशी अध्ययन और प्लेसमेंट सैल की स्थापना की है।


इस समझौते के मुताबिक लगभग 40000 इच्छुक नौजवानों को शिक्षित और प्रमाणित ट्रेनरों की तरफ से सरकारी तकनीकी संस्थाओं में ऑयल्स की कोचिंग और प्रशिक्षण दिया जायेगा। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी सरकारी आई.टी.आईज और पोलीटेकनिकों में अंग्रेज़ी के सभी अध्यापकों के लिए ऑयल्स टैस्ट करवाएगी और जो उम्मीदवार ऑयल्स परीक्षा में 8बैंड प्राप्त करेंगे, उनको ऑयल्स कोचिंग के लिए नामज़द किया जायेगा। यह प्रयास नौजवानों को प्राईवेट ऑयल्स ट्रेनरों द्वारा भारी फ़ीसें वसूलने की लूट से बचाएगा
इस समझौते को पंजाब के लिए ऐतिहासिक पल करार देते हुये उन्होंने कहा कि विभाग ने अंग्रेज़ी भाषा के प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना, मान्यता और प्रबंधन के लिए सभी प्राईवेट ऑयल्स केन्द्रों के लिए एक स्टैंडर्ड ओपरेटिंग प्रक्रिया (एसओपी) का नक्क्षा तैयार करने का भी फ़ैसला किया है। पंजाब में गैस्ट इमीग्रेशन सलाहकारों को नियमित करने, जाली विवाहों को रोकने और बायोमेट्रिक अपुआइंटमैंटस के मुद्दों को कंट्रोल करने के लिए एसओपीज़ बनाने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुये उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के नौजवानों को विदेश जाने के लिए एक कानूनी ढांचा प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है। ऐसे निर्धारित ढंग के द्वारा ही वह विदेश जाएँ। ग़ैर कानूनी तरीके से अपने सपनों को पूरा करके पैसा कमाने की कोशिश करके ग़ैर-कानूनी ट्रैवल एजेंटों की लूट से बचें।


ज़िक्रयोग्य है कि कैंब्रिज यूनिवर्सिटी प्रैस और पंजाब सरकार के तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के बीच रणनीतक हिस्सेदारी का उद्देश्य क्षेत्र के विद्यार्थियों को विदेशों में पढ़ाई या काम के लिए अंग्रेज़ी में महारत साबित करें और सुधारने में मदद करना है। यह पहलकदमी पंजाब के विद्यार्थियों को कैंब्रिज से प्रिंट और डिजिटल दोनों रूपों में उच्च गुणवता वाली अध्ययन सामग्री प्रदान करेगी। इसके अलावा यह प्रयास कैंब्रिज के ट्रेनरों को मानक प्रशिक्षण प्रोग्रामों के साथ-साथ टीचिंग सर्टीफिकेशन की पेशकश करेगा।  

इस मौके पर कैंब्रिज यूनिवर्सिटी प्रैस इंडिया के मैनेजिंग डायरैक्टर श्री अरुण राजमनी, मुख्यमंत्री पंजाब के सलाहकार (कौशल विकास और तकनीकी शिक्षा) डा. सन्दीप सिंह कौड़ा, तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के सचिव विकास गर्ग, तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण के डायरैक्टर प्रदीप कुमार अग्रवाल, पंजाब सरकार के अधिकारी और कैंब्रिज इंडिया के डैलीगेट उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here