मुसेवाला की हत्या ने स्पष्ट किया कि पंजाब में भगवंत मान सरकार का नहीं बल्कि अपराधियों का राज : अश्वनी शर्मा

0
71
मुसेवाला की हत्या ने स्पष्ट किया कि पंजाब में भगवंत मान सरकार का नहीं बल्कि अपराधियों का राज : अश्वनी शर्मा
मुसेवाला की हत्या ने स्पष्ट किया कि पंजाब में भगवंत मान सरकार का नहीं बल्कि अपराधियों का राज : अश्वनी शर्मा

Chandigarh(Shubham Garg):

अपनी उतेजक गायकी के दम सुर्ख़ियों में रहने वाले तथा कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़ने वाले पंजाबी गायक सिद्धू मुसेवाला की मानसा जिला के गाँव जवाहर के नजदीक कुछ अज्ञात हथियारबंद लोगों द्वारा सरेआम हत्या किए जाने की भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कड़े शब्दों में निंदा की है। शर्मा ने मुख्य्मंत्री भगवंत मान तथा उनकी सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब से पंजाब में आप सरकार बनी है तब से पंजाब में कानून-व्यवस्था ख्त्न हो गई है। आज आम जनता तो क्या कोई बड़ा नेता भी सुरक्षित नहीं है। शर्मा ने कहा कि भगवंत मान द्वारा सिद्धू मुसेवाला की सुरक्षा हटाई गई थी। शर्मा ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा पंजाब में कानून-व्यवस्था नहीं संभाली जाती यो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि आप नेताओं में वीआईपी कल्चर खत्म करने की बातें करने वाले अरविन्द केजरीवाल के खुद के पास 90 सुरक्षा कर्मी हैं, मुख्यमंत्री भगवंत मान के पास 850 से भी ज्यादा, राघव चड्डा के पास 45, भगवंत मान की माँ के पास 20 तथा भगवंत मान की बहन के पास भी 20 सुरक्षा कर्मी हैं। जबकि पंजाब की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा बीते दिनों पंजाब के 424 लोगों की सुरक्षा वापिस लेकर उनकी सारी डिटेल मीडिया के माध्यम से जनता तथा अपराधियों के साथ बांटी गई। यह सब कुछ अपराधियों व् गैंगस्टरों को हत्याओं एवं अन्य वारदातों को अंजाम देने का खुला न्यौता है। जिसके चलते सिद्धू मुसेवाला को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। शर्मा ने कहा कि सिद्धू मुसेवाला का हत्या के मुख्य जिम्मेदार केजरीवाल, भगवंत मान, राघव चड्डा तथा पंजाब के डीजीपी हैं।

            अश्वनी शर्मा ने कहा कि पिछले दो महीनों में पंजाबी गायक सिद्धू मुसेवाला सहित 50 से अधिक हत्याएं हो चुकी हैं। पंजाब में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज़ नहीं है। अपराधी सरेआम हत्याएं, लूटपाट व् फिरौती जैसी घटनाओं को सरकार एवं पुलिस-प्रशासन की नाम के नीचे अंजाम दे रहे हैं। लेकिन पंजाब में बदलाव की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले भगवंत मान और केजरीवाल सहित सभी आप नेता बदलाव के सवाल पर गायब हो जाते हैं। शर्मा ने मुख्यमंत्री भगवंत मान से सवाल किया कि क्या यही है पंजाब में बदलाव? जहाँ कोई भी सुरक्षित ना हो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here