स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बूटा मंडी, लांबड़ा एवं जालंधर में खाने वाले 12 पदार्थों के लिए सैंपल

0
166
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बूटा मंडी, लांबड़ा एवं जालंधर में खाने वाले 12 पदार्थों के लिए सैंपल
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बूटा मंडी, लांबड़ा एवं जालंधर में खाने वाले 12 पदार्थों के लिए सैंपल

Jalandhar(S.K Verma):पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री डा. विजय सिंगला के निर्देशों पर राज्य भर में मिलावटखोरी के ख़िलाफ़ चल रही चैकिंग और सैंपलिंग मुहिम के अंतर्गत आज होशियारपुर के ज़िला स्वास्थ्य अधिकारी के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अलग -अलग स्थानों पर चैकिंग करके खाने वाली वस्तुओं के 12 सैंपल भरे।होशियारपुर के ज़िला स्वास्थ्य अधिकारी डा. लखवीर सिंह के नेतृत्व में पहुँची टीम ने लांबड़ा, बूटा मंडी और जालंधर -फगवाड़ा हाईवे पर स्थित एक ढाबे से खीर, लस्सी, देसी घी, बटर आदि के सैंपल लिए। इस सम्बन्धित जानकारी देते डा. लखवीर सिंह ने बताया कि पटवारी ढाबे से टीम की तरफ से पनीर, लस्सी और खीर का सैंपल लिया गया जबकि बूटा मंडी स्थित भुपिन्दर डेरी से पनीर, दही, देसी घी और बटर का सैंपल लिया गया। उन्होंने बताया कि इसी तरह लांबड़ा में घई बिस्किट और नोवलटी ट्रेडिंग से पेस्टरियों और कुबोलों तेल, नमकीन और देसी घी के सैंपल लिए गए। खाने -पीने वाले पदार्थों की बिक्री करने वाले और यह पदार्थ तैयार करने वाले दुकानदारों से अपील करते डा. लखवीर सिंह ने कहा कि वह सरकार की निर्देशों मुताबिक अपनी रोज़ानां की बिक्री मुताबिक अपनी रजिस्टरेशन करवा कर अपेक्षित लायसंस हासिल करने। उन्हों ने यह भी कहा कि शुद्ध और गुणकारी पदार्थों की बिक्री ही की जिससे मिलावटखोरी को जड़ों ख़त्म किया जा सके। लोगों को मिलावटखोरी के ख़िलाफ़ शुरू मुहिम का सक्रिय हिस्सेदार बनने का न्योता देते हुए उन्होंने कहा कि इस बीमारी के ख़िलाफ़ सभी को एकजुट होना चाहिए जिससे ठोस और नरोए पंजाब का स्वप्न साकार किया जा सके। उन्होंने कहा कि सैंपलिंग का एक ही -एक उद्देश्य लोगों के लिए मार्केट में शुद्ध और गुणकारी वस्तुओं की उपलब्धता को ही यकीनी बनाना है। डा. लखवीर सिंह ने बताया कि आज लिए गए सैंपल सीलबंद करके आगे वाली कार्यवाही के लिए स्टेट फूड लैब, खरड़ भेजे जा रहे जिससे इन की जांच हो सके और रिपोर्ट अनुसार आगे वाली कार्यवाही की जाये वर्णनयोग्य है कि इस से पहले टीम की तरफ से बीते कल रामां मंडी और उस से पहले करतारपुर, किशनगढ़ और भोगपुर में भी चैकिंग की जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here