तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभ्यान के दौरान 14 लाख से अधिक बच्चों को पिलाईं बूँदें : चेतन सिंह जौड़ामाजरा

0
57
तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभ्यान के दौरान 14 लाख से अधिक बच्चों को पिलाईं बूँदें : चेतन सिंह जौड़ामाजरा
तीन दिवसीय पल्स पोलियो अभ्यान के दौरान 14 लाख से अधिक बच्चों को पिलाईं बूँदें : चेतन सिंह जौड़ामाजरा

Chandigarh(Davinder Garg):पंजाब की पोलियो मुक्त स्थिति को बरकरार रखने के लिए, मुख्यमंत्री भगवंत मान  के  दूरदर्शी नेतृत्व अधीन पंजाब के स्वास्थ्य विभाग ने अपनी तीन दिवसीय उप राष्ट्रीय पल्स पोलियो मुहिम (एस. एन. आई. डी.) के अंतर्गत 14,24,142 बच्चों को पोलियो से बचाव के लिए बूँदें पिलाईं हैं। यह प्रगटावा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री स. चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने किया।
स. चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने यह जानकारी देते हुये बताया कि पाँच साल से कम उम्र के हर बच्चे को पोलियो बूँदें पिलाने को यकीनी बनाने के लिए पंजाब के 12 जिलों में घर-घर जाकर यह मुहिम चलाई गई है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने ईंटों के भट्टों, रेलवे स्टेशन, बस अड्डों, निर्माणाधीन स्थानों और झुग्गियों-झौंपड़ियों आदि की तरफ विशेष ध्यान दिया गया है।
वालंटियरों के अथक यत्नों की सराहना करते हुये स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 11,865 पोलियो वैक्सीन टीमें तैनात की गई हैं और इन सभी ने इस मुहिम की सफलता के लिए सराहनीय प्रयास किये हैं। टीमों ने घर-घर जाकर हर बच्चे को पोलियो बूँदें पिलाये जाने को यकीनी बनाया। स्वास्थ्य विभाग पंजाब और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अलग-अलग स्तरों पर निगरानी के लिए आंतरिक सुपरवाइज़र और बाहरी मॉनिटरों तैनात किये थे।
स. जौड़ामाजरा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 14,83,072 का लक्ष्य रखा गया था और यह मुहिम अपने निर्धारित लक्ष्य का 96.03 प्रतिशत हासिल करने में कामयाब रही है और स्वास्थ्य अधिकारियों को बाकी बचे बच्चों को घरों में जाकर पोलियो बूँदें पिलाने के निर्देश दिए गए हैं। इस मुहिम के दौरान बूँदें पीने से वंचित रह गए बच्चों की पहचान करने और उन्हें पोलियो बूँदें पिलाने के लिए घर-घर जाने की मुहिम पाँच दिनों तक जारी रहेगी। इस मुहिम को विश्व स्वास्थ्य संगठन ( डब्ल्यू. एच. ओ.), रोटरी और अन्य सिविल सोसायटी संस्थाओं के तकनीकी भाईवालों और वालंटियरों द्वारा सहयोग दिया गया।
ज़िक्रयोग्य है कि बच्चों की कवरेज के सम्बन्ध में ज़िला स्तरीय कारगुज़ारी, एस. बी. एस. नगर 100 प्रतिशत, फाजिल्का 99.58 प्रतिशत, तरन तारन 99.40 प्रतिशत, श्री मुक्तसर साहिब 98.74 प्रतिशत, बठिंडा 97.53 प्रतिशत, पठानकोट 96.82 प्रतिशत, मोगा 95.47 प्रतिशत, अमृतसर 94.41 प्रतिशत, फरीदकोट 94.14 प्रतिशत, श्री फतेहगढ़ साहिब 94.06 प्रतिशत, पटियाला 92.66 प्रतिशत और मानसा 92.63 प्रतिशत रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here