पंजाब सरकार की गलत नीतियों के कारण प्राईवेट अस्पतालों में गरीब व् जरुरतमंदों का फ्री ईलाज हुआ बंद: सुरेश महाजन

0
167
पंजाब सरकार की गलत नीतियों के कारण प्राईवेट अस्पतालों में गरीब व् जरुरतमंदों का फ्री ईलाज हुआ बंद: सुरेश महाजन
पंजाब सरकार की गलत नीतियों के कारण प्राईवेट अस्पतालों में गरीब व् जरुरतमंदों का फ्री ईलाज हुआ बंद: सुरेश महाजन

Amritsar(Rajeev Sharma):

पंजाब के प्राईवेट अस्पतालों द्वारा प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के कार्ड धारकों का ईलाज सोमवार से बंद किए जाने पर बीजेपी अमृतसर के अध्यक्ष सुरेश महाजन ने कड़ा नोटिस लेते हुए कहा कि यह सब पंजाब की भगवंत मान सरकार की नाकामी और नालाईकी का नतीज़ा है। सुरेश महाजन ने कहा कि इसके बंद होने से पंजाब की जरूरतमंद एवं गरीब जनता को बहुत बड़ा नुकसान शुरू हो गया है।
सुरेश महाजन ने कहा कि पंजाब के करीब 45 लाख लोगों को इस योजना का लाभ मिल रहा था। लेकिन पिछले पाँच महीनों में कांग्रेस की चन्नी सरकार एवं पंजाब की मौजूदा भगवंत मान सरकार की नालाईकी और गलत नीतियों के कारण प्राईवेट अस्पतालों को 250 करोड़ रुपए से अधिक की अदायगी नहीं की गई, जबकि केंद्र सरकार द्वारा अपने हिस्से का दिया जाने वाला 60% हिस्सा दिया जा चुका है। पंजाब सरकार द्वारा 250 करोड़ से अधिक का भुगतान ना किए जाने के चलते पंजाब के 45 लाख जरूरतमंद एवं गरीब परिवारों को इस योजना के तहत प्राईवेट अस्पतालों में होने वाले ईलाज के लाभ से वंचित होना पड़ गया है।
सुरेश महाजन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने 2011 की जनगणना के अनुसार देश के 10 करोड़ परिवारों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से ‘प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना’ की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत देश के 50 करोड़ लोगों को मुफ्त ईलाज सरकार के द्वारा उपलब्ध करवाया जाना सुनिश्चित किया गया था। यानी 50 करोड़ लोगों को प्रति परिवार सालाना 5 लाख रुपये का हेल्थ कवरेज दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश में हर 12 सेकंड में एक गरीब का मुफ्त ईलाज में हो रहा है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा चलाई गई इस आयुष्मान योजना का देश की जरूरतमंद एवं गरीब जनता लाभ ले रही है और प्रधानमंत्री मोदी को दुआएं एवं आशीर्वाद दे रही है। लेकिन पंजाब सरकार की नालाईकी एवं गलत नीतियों के चलते इस योजना के तहत प्राईवेट अस्पतालों में होने वाले ईलाज से पंजाब की जनता वंचित हो गई है।
सुरेश महाजन ने कहा कि इस योजना के तहत केंद्र सरकार का हिस्सा 60% तथा राज्य सरकार यानि पंजाब सरकार का हिस्सा 40% था। जिसके तहत पंजाब के 700 के करीब प्राईवेट अस्पतालों को पंजाब सरकार द्वारा अपने हिस्से का 250 करोड़ से ज्यादा रुपया देना था, जिसे भगवंत मान सरकार द्वारा अभी तक नहीं दिया गया। जिससे प्राईवेट अस्पतालों को अपने खर्च चलाने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इससे नाराज़ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन पंजाब द्वारा सोमवार से आयुष्मान कार्ड धारकों का ईलाज बंद कर दिया गया है। सुरेश महाजन ने माँग की कि भगवंत मान सरकार पंजाब के प्राईवेट अस्पतालों की रोकी हुई 250 करोड़ रुपए से अधिक की राशि तुरंत जारी करे ताकि पंजाब की जरुरतमंद एवं गरीब जनता को प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी द्वारा चलाई जा रही ‘प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना’ का लाभ निरन्तर मिलता रहे।
सुरेश महाजन ने कहा कि आम आदमी पार्टी द्वारा प्रदेश की जनता को झूठे वादे करके और झूठे सुनहरे सपने दिखा कर पंजाब की सत्ता हासिल की गई थी, लेकिन अब जब उन वादों को पूरा करने का समय आया तो मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल दोनों ही जनता से मुँह छुपाते फिर रहे हैं। ऐसे में भगवंत मान तथा केजरीवाल जनता से किए अपने वादों से ध्यान भटकाने के लिए रोज़ाना नए-नए राजनीतिक खेल रच कर पंजाब की भोली-भली जनता को मुर्ख बनाने में लगे हैं। लेकिन शायद यह दोनों यह नहीं जानते कि जनता सब कुछ जानती है और सब देख और समझ रही है। जनता इसका जवाब अवश्य देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here