डेंगू की रोकथाम हेतु डॉ. विजय सिंगला द्वारा राज्य में फोगिंग के कार्य में तेज़ी लाने के हुक्म

0
159
डेंगू की रोकथाम हेतु डॉ. विजय सिंगला द्वारा राज्य में फोगिंग के कार्य में तेज़ी लाने के हुक्म
डेंगू की रोकथाम हेतु डॉ. विजय सिंगला द्वारा राज्य में फोगिंग के कार्य में तेज़ी लाने के हुक्म

Chandigarh(Shubham Garg):

पंजाब राज्य में डेंगू की रोकथाम हेतु डॉ. विजय सिंगला की तरफ से राज्य में फोगिंग के कार्य में तेज़ी लाने के हुक्म दिए हैं।
आज यहां डेंगू की रोकथाम हेतु गठित स्टेट टास्क फोर्स कमेटी की मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये डॉ. सिंगला ने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में डेंगू के बहुत केस सामने आ रहे हैं। इसके इलावा पंजाब राज्य में समय से पहले गर्मी पड़ने के कारण लोगों की तरफ से घरों में कूलर आदि बरतने के कारण डेंगू के कुछ मामले सामने आए हैं। जिसको ध्यान में रखते हुये हमें अभी से ही चौकस होने की ज़रूरत है। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को हिदायत की कि सक्रब्बटाईफस और लैपटोसपाईरोसिस के लक्षण भी डेंगू जैसे होते हैं, परंतु इससे शरीर के अन्य अंगों पर ज़्यादा प्रभाव होता है और बीते वर्ष राज्य में इन दोनों रोगों से भी कुछ मौतें हुई थीं। इसलिए हमें इन दोनों रोगों को फैलने से रोकने के लिए भी विशेष ध्यान देने की भी ज़रूरत है।
डॉ. सिंगला ने कहा कि जहाँ शहरों, गाँवों और कस्बों में फोगिंग के कार्य में तेज़ी लाई जाये वहीं साथ ही लोगों को जागरूक करने हेतु विशेष मुहिम चलाई जाये। उन्होंने कहा कि बच्चों के द्वारा हम डेंगू से बचाव सम्बन्धी हर परिवार को जागरूक कर सकते हैं। इसलिए स्कूलों में विशेष तौर पर डेंगू रोकथाम सम्बन्धी जागरूक कैंप लगाए जाएँ। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को हिदायत की कि डेंगू की रोकथाम सम्बन्धी चलाई जाने वाली मुहिम में एन.जी.ओज. को भी शामिल किया जाये।
मीटिग के दौरान प्रमुख सचिव स्थानीय निकाय विभाग श्री विवेक प्रताप सिंह ने माँग की कि डेंगू की रोकथाम के लिए ज़िला स्तर पर तालमेल स्थापित करने हेतु सिविल सर्जन के नेतृत्व अधीन मीटिंग करवानी योग्य होगी। जिस पर स्वास्थ्य मंत्री ने हुक्म दिए कि यह मीटिंगें जल्द से जल्द स्वास्थ्य विभाग की तरफ से करवाई जाएँ। इसके इलावा उन्होंने स्थानीय निकाय विभाग और ग्रामीण विकास, पंचायती राज विभाग को कहा कि यदि उनको डेंगू की रोकथाम सम्बन्धी चलाई जाने वाली मुहिम में स्वास्थ्य विभाग से किसी तरह की सहायता की ज़रूरत है तो स्वास्थ्य विभाग सहायता उपलब्ध करवाने के लिए तैयार है।
डॉ. सिंगला ने वाटर सप्लाई और सेनिटेशन विभाग के अधिकारियों को हिदायत की कि राज्य में जहाँ जहाँ भी राज्य सरकार की तरफ से पानी साफ़ करने के लिए आर.ओ. सिस्टम लगाए गए थे, यदि वह ख़राब पड़े हैं तो उनको भी तुरंत ठीक करवाया जाये।
स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री अजोए शर्मा ने डेंगू की रोकथाम के लिए किये गए प्रबंधों संबंधी जानकारी देते हुये स्वास्थ्य मंत्री को अवगत करवाते हुये बताया कि विभाग द्वारा डेंगू सम्बन्धी किया जाता टैस्ट सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ़्त में किया जाता है और विभाग की तरफ से टैस्ट के लिए अपेक्षित टेस्टिंग कीट्स सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध करवा दी गई है। उन्होंने यह भी बताया कि अस्पतालों में डेंगू सम्बन्धी वार्ड तैयार करने के लिए भी आदेश जारी कर दिए गए हैं।
इस मौके पर डेंगू की रोकथाम हेतु स्वास्थ्य विभाग की तरफ से लोगों को जागरूक करने हेतु तैयार किया गया पोस्टर स्वास्थ्य मंत्री की तरफ से जारी किया गया।
इस मीटिंग में अन्यों के अलावा टी.पी.एस. फुलका, एम.डी.एन.एच.एम., श्रीमती नीलिमा, एम.डी.पी.एच.एस.सी., डॉ. जी.बी. सिंह, डायरैक्टर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के अलावा ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग, राज्य परिवहन विभाग, मेडिकल शिक्षा और अनुसंधान विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, श्रम विभाग, वाटर सप्लाई और सेनिटेशन विभाग, सीनियर रीजनल डायरैक्टर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन समेत कई विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here