डिप्टी कमिश्नर ने युवाओं को अधिक से अधिक कौशल विकास प्रशिक्षण देने की बात कही

0
166
डिप्टी कमिश्नर ने युवाओं को अधिक से अधिक कौशल विकास प्रशिक्षण देने की बात कही
डिप्टी कमिश्नर ने युवाओं को अधिक से अधिक कौशल विकास प्रशिक्षण देने की बात कही

Jalandhar(S.K Verma):

डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने युवाओं को अधिक से अधिक कौशल विकास प्रशिक्षण देने की ज़रूरत पर ज़ोर देते जालंधर में से बेरोजगारी को ख़त्म करने के लिए सांझे यत्न करने का न्योता दिया। डिप्टी कमिश्नर ने आज सैंटर इंस्टीट्यूट आफ हैड टूलज़ जालंधर के दौरे दौरान कहा कि इस सैंटर की तरफ से अपने विद्यार्थियों को नवीनतम प्रशिक्षण दे कर कौशल विकास में अहम भूमिका निभाई जा रही है। उन्होंने बताया कि सैंटर में इलैक्ट्रिकल, मकैनिकल, कंप्यूटर इंजनियरिंग, सी.एन.सी., सी.ऐम.ऐम., हैड टूलज़ का निर्माण, आटो -पार्टस जैसे अलग -अलग ट्रेड सहित इंजीनियरिंग आधारित कई कोर्स उपलब्ध हैं। सी.आई.ऐच.टी. के प्रिंसिपल डा. सरबजीत सिंह, डिप्टी डायरैक्टर (प्रशिक्षण) पी.के. वर्मा ने डिप्टी कमिश्नर का स्वागत करते बताया कि यहाँ विद्यार्थियों को 26 अलग -अलग कोर्स करवाए जा रहे हैं, जिनका उदेशय विद्यार्थियों को अलग -अलग उद्योगों की तरफ से इस्तेमाल की, जाएँ वाली आधुनिक मशीनों का प्रशिक्षण प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि इस केंद्र की तरफ से न सिर्फ़ मानक प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है बल्कि पास हो चुके विद्यार्थियों के लिए रोज़गार के मौके भी यकीनी बनाऐ जा रहे हैं। पिछले साल इस केंद्र से 25,000 से अधिक विद्यार्थी पास हुए थे और 600 विद्यार्थी इस समय पर यहाँ प्रशिक्षण ले रहे हैं। यहाँ बुनियादी ढांचो की उपलब्धता पर रौशनी डालते हुए उन्होंने बताया कि यहाँ अलग -अलग टूल रूम, फोरज शाप, हीट ट्रीटमेंट शाप, सी.एन.सी. वर्कशाप, टेस्टिंग लैबज़ के इलावा सी.ऐन.सी. ट्रनिंग /मिलिंग लैब, कैड -केम (CAD -CAM) लेबस मैकाट्रानिक लैब, कंप्यूटर लैब जैसी अति -आधुनिक प्रशिक्षण सुविधाएं भी स्थापित की गई हैं।
डिप्टी कमिशनर ने विक्टर टुल्स से अशवनी कुमार के साथ सी.आई.ऐच.टी. की तरफ से यहाँ दी जा रही उच्च स्तरीय सहूलतें जैसे कि सी.ऐम.ऐम., सी.ऐन.सी. तार काट मशीन, सी.ऐन.सी. प्रशिक्षण सिमूलेटर की प्रशंसा की और इसको विद्यार्थियों की प्रैक्टिकल प्रशिक्षण के लिए काफ़ी लाभदायक बताया। डिप्टी कमिश्नर ने प्रबंधकों को अपने कोर्स उद्योगों की काम शक्ति की ज़रूरत अनुसार तैयार करने के लिए कहा जिससे रोज़गार देने और युवाओं के बीच अंतर को पूरा किया जा सके। घनश्याम थोरी ने ज़ोर दे कर कहा कि सभी भागीदारों की तरफ से तालमेल के साथ किए प्रयत्नों के साथ यह केंद्र युवाओं को औद्योगिक प्रशिक्षण प्रदान करने में अग्रणी भूमिका निभा सकता है, जिसके साथ रोज़गार सृजन करने में बड़ा योगदान पाया जा सकता है।इस मौके सहायक डायरैक्टर वर्कशाप प्रशिक्षण एम.आर.सलान, इंचार्ज फोरज साप एम.के दीक़शित ने इस केंद्र में अलग -अलग सुविधाओं के बारे जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here