नशा छुडाओ केंद्र को मिला प्रोत्साहन,जालंधर में 26 नए ओट केंद्र स्थापित,जिले में कुल 37 ओट केंद्र कार्यरत

0
152

Jalandhar(S.K Verma):

डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने आज कहा कि स्वास्थ्य विभाग के नशा-मुक्ति प्रोग्राम को और मजबूत करने के लिए जिले में 26 नए आउट पेशेंट ओपीओडी असिस्टेड ट्रीटमेंट (ओट) सेंटर स्थापित किए है, जिनमें नशा करने वालों को इलाज की सुविधा देनी शुरू कर दी गई है।
इसका बारे जानकारी देते हुए आज यहां डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि अब जिले में 37 ओट सेंटर चलाए जा रहे है, जहां नशा करने वालों का नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ये केंद्र फिल्लौर, नकोदर, आदमपुर, अपरा, नूरमहिल, शेखे, काला बकरा, करतारपुर, लोहियां, शाहकोट, बस्ती गुजां, सिविल अस्पताल (जालंधर), भोगपुर, रंधावा मसंदा, चिट़ी, रूपेवाली, दोसांझ कलां, बडापिंड, बिल्गा, जमशेर, जंडियाला, बुंडाला, मेहतापुर, शंकर, मल्लियां कलां, तलवन, दादा कॉलोनी, खुरला किंगरा, भारगो कैंप, पीएचसी मकसूदां, धनोवली, गढ़ा, काजी मंडी, बस्ती दानिशमंदा, अमन नगर, बस्ती बावा खेल और बस्ती नौ में चलाए जा रहे है। उन्होंने कहा नए केंद्र प्रभावित लोगों को उनके घर के नजदीक इलाज की सुविधा उपलब्ध करवाने में मदद करेगें। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि ओट सेंटर नशा करने वालों के जीवन में बदलाव लाने में महत्वपूर्ण साबित हो रहे है और उनके द्वारा दिया जा रहा ईलाज प्रभावित व्यक्तियों को नशे से छुटकारा दिलाने में मदद कर रहा है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि जिला प्रशासन नशीली दवाओं के खिलाफ जागरूकता फैला रहा है, जिससे बड़ी संख्या में युवा इलाज के लिए केंद्रों पर पहुंच रहे है।
डिप्टी मैडीकल कमिश्नर डा. ज्योति शर्मा ने बताया कि इन केंद्रों में कुल 16,585 मरीजों का इलाज चल रहा है, उन्होंने लोगों से नशे के खिलाफ प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों में पूरा सहयोग करने की अपील की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here