पंजाब की उपजाऊ धरती पर कुछ भी बीजा जा सकता परन्तु नफ़रत का बीज नहीं – भगवंत मान

0
160
पंजाब की उपजाऊ धरती पर कुछ भी बीजा जा सकता परन्तु नफ़रत का बीज नहीं - भगवंत मान
पंजाब की उपजाऊ धरती पर कुछ भी बीजा जा सकता परन्तु नफ़रत का बीज नहीं - भगवंत मान

Chandigarh(Sourabh Mittal):

राज्य की अमन-शांति को भंग करने की कोशिश कर रहे समाज विरोधी तत्त्वों को सख़्त चेतावनी देते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि पंजाब की उपजाऊ धरती पर कुछ भी बीजा जा सकता है परन्तु नफ़रत के बीज नहीं। राज्य के लोगों में मज़बूत सामाजिक सांझ को कमज़ोर करने की अपवित्र कोशिशों में शामिल किसी भी व्यक्ति को सरकार बखशेगी नहीं।

ईद-उल-फितर के शुभ मौके पर स्थानीय ईदगाह में नमाज़ अदा करने के मौके पर शिरकत करने के बाद भरवें इकट्ठ को संबोधन करते हुये भगवंत मान ने कहा कि ईद एक ऐसा त्योहार है जो हमें दूसरों के दुख-सुख का एहसास करवाता है और यह पवित्र त्योहार भाईचारक सांझ, शांति और सदभावना का प्रतीक है।

मालेरकोटला के सर्वपक्षीय विकास को यकीनी बनाने का ऐलान करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि नये बने जिले में ज़रुरी बुनियादी ढांचे के विकास के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने मालेरकोटला को सिर्फ़ जिले का दर्जा दिया था परन्तु इसको सही अर्थों में ज़िला बनाने के लिए अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। उन्होंने कहा कि वह मालेरकोटला की ज़रूरतों से अच्छी तहर अवगत हैं और जिले में शिक्षा और सेहत के बुनियादी ढांचे के विकास को प्राथमिकता दी जायेगी।

स्थानीय विधायक मुहम्मद जमील उर रहमान की तरफ से उठाई माँगों को मानते हुए भगवंत मान ने भरोसा दिलाया कि इस ऐतिहासिक शहर को तब तक फंडों की कोई कमी नहीं आने दी जायेगी जब तक समूचे विकास कार्य इसके निवासियों की तसल्ली अनुसार मुकम्मल नहीं हो जाते।

राज्य की छिन चुकी शान को फिर हासिल करने के लिए अपनी सरकार की वचनबद्धता को दोहराते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लोगों ने 46 दिनों के दौरान नौजवानों के लिए रोज़गार के बड़े मौके पैदा करने के साथ-साथ साफ़-सुथरा और पारदर्शी प्रशासन मुहैया करवाने के लिए उनकी सरकार की पहलकदमियों को देखा है। इस दौरान जहाँ भ्रष्टाचार का ख़ात्मा हुआ है, वहीं सरकारी ज़मीनों को नाजायज कब्जों से मुक्त करवाने के लिए सफल मुहिम चलाई गई है।

आप सरकार को कारगुज़ारी के लिए लोगों को कुछ और समय देने की अपील करते हुये मान ने कहा कि उनकी सरकार राज्य के लोगों के साथ किये हर वायदे को पूरा कर रही है और उनकी कैबिनेट ने पहले ही अलग-अलग सरकारी विभागों में खाली पड़े 26,454 पद भरने के लिए बड़े स्तर पर भर्ती मुहिम को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि पंजाब कैबिनेट ने पूर्व विधायकों को सिर्फ़ एक ही पैनशन देने के लिए एक्ट में संशोधन करने की मंज़ूरी दी। उन्होंने कहा कि ‘आप ’ सरकार सरकारी खजाने में से एक-एक पैसा लोगों की भलाई के लिए ख़र्च करने के लिए वचनबद्ध है।

पिछली सरकारों की तरफ से अपने राजनैतिक विरोधियों के विरुद्ध झूठे केस दर्ज करने की रिवायत को तोड़ने का भरोसा देते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने राज्य के साधनों को बेरहमी से लूटने के इलावा कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा, “यह लोग कई सालों से राज को लूटने के बाद भी संतुष्ट नहीं हैं। परन्तु अब लोगों की अपनी सरकार है। लुटेरों से ब्याज समेत पैसे वापिस लिए जाएंगे।“

इससे पहले मालेरकोटला के विधायक मुहम्मद जमील उर रहमान ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और ज़िला मालेरकोटला की लंबे समय से लटकती आ रही माँगों को मुख्यमंत्री के सामने रखा।

इस मौके पर दूसरों के इलावा जसवंत सिंह गज्जणमाजरा विधायक अमरगढ़, मुफ्ती-ऐ-आज़म हज़रत मौलाना मुफ्ती इरतका उल हँसन कंधलवी, मुहम्मद असलम बची, रवि भगत मुख्यमंत्री पंजाब के विशेष प्रमुख सचिव, मुखविन्दर सिंह छीना आईजी पंजाब पुलिस, जतिन्दर जोरवाल डिप्टी कमिशनर, अलका मीना सीनियर पुलिस कप्तान, सुखप्रीत सिंह सिद्धू अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here