जालंधर में नशा विरोधी अभियान को बढावा देने के लिए 26 नए ओट क्लीनिक स्थापित किए जाएंगे: डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी

0
161
डिप्टी कमिश्नर की कलोनाईज़रों खिलाफ सख़्त कार्यवाही,जे.डी.ए. को कलोनाईज़रों से 8.10 लाख रुपए का राजस्व प्राप्त
डिप्टी कमिश्नर की कलोनाईज़रों खिलाफ सख़्त कार्यवाही,जे.डी.ए. को कलोनाईज़रों से 8.10 लाख रुपए का राजस्व प्राप्त

Jalandhar(S.K Verma):जालंधर जिले में 26 नए आऊटपेशैंट ओपीओड असिस्टड ट्रीटमेंट (ओट) क्लिनिकों की जल्द स्थापना की जाएगी, क्योंकि मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की तरफ से नशे के अधिक से अधिक मरीज़ों के इलाज के लिए इन क्लिनिकों की स्थापना के लिए मंजूरी दे दी गई है जानकारी देते डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने बताया कि यह नए केंद्र प्रभावित लोगों को उनके घरों के नज़दीक इलाज सुविधाएं मुहैया करवाने में सहायक होंगे, जिससे नशे से निपटने के लिए ज़िला प्रशासन की तरफ से किए जा रहे यतनों को बढावा मिलेगा। पंजाब सरकार के नशा विरोधी अभियान को जालंधर में बड़े स्तर पर सफल बनाने के लिए लोगों से सहयोग की माँग करते घनश्याम थोरी ने नशे के मरीज़ों को इन नए केन्द्रों पर अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन करवाने की अपील की। उन्होंने कहा कि लोगों की सक्रिय भागीदारी के बिना नशे विरुद्ध जंग नहीं जीती जा सकती, इस लिए प्रत्येक व्यक्ति को आगे आ कर इन यतनों में अपना योगदान देना चाहिए। डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि जिले में पहले कुल 11 ओट क्लीनिक काम कर रहे है और इन नए केन्द्रों के खुलने से क्लिनिकों की कुल संख्या 37 हो जाएगी। यह नए केंद्र भोगपुर, रंधावा मसनदां, चिटी, रूपेवाली, दुसांझ कलाँ, बड़ा पिंड, बिलगा, जमशेर, जंडियाला, बुंडाला, मेहतपुर, शंकर, मलिया कलां, तलवण, दादा कालोनी, खुरला कींगरा, भारगो कैंप, पी.ऐच.सी मकसूदां, धनोवाली, गडा, काज़ी मंडी, बस्ती दानिशमन्दां, अमन नगर, बस्ती बावा खेल, बस्ती नौ और कम्युनिटी हैल्थ सैंटर पी.ए.पी. में स्थापित किये जाएंगे। डिप्टी कमिश्नर ने स्वास्थय आधिकारियों को उक्त इलाकों के आस -पास रहने वाले लोगों को साथ ले कर नशे विरुद्ध व्यापक अभियान चलाने के आदेश दिए ,जिससे नशों के आदी व्यक्ति इन केन्द्रों का लाभ ले सकें। इस सम्बन्धित और ज्यादा जानकारी देते डिप्टी मैडीकल कमिश्नर डा. ज्योति शर्मा ने बताया कि केन्द्रों के लिए चुने गए स्टाफ सदस्यों को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ नए सैंटर खोलने के लिए रूप -रेखा तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि ज़िले में मौजूदा 11 ओट क्लिनिकों में इनके शुरू होने से ले कर अब तक 16,000 से अधिक मरीज़ रजिस्टर हैं और नए केन्द्रों के खुलने के साथ नशे ख़िलाफ़ शुरु किए अभियान को और मज़बूती मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here