सबूत दो ऐसी कार्रवाई करेंगे कि कमिश्नर को पछतावा होगा- सर्वोच्च अदालत

Delhi -:
शारदा चिटफंड ममाले में पूछताछ करने के लिए सीबीआई ने आज सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। कोर्ट नवे इस मामले की सुपनवाई कल तक के लिए टाल दी है। केंद्र सरकार ने इस मामले पर आज ही सुनवाई करने को कहा था। जिसपर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि जरूरी नहीं है आज ही सुनवाई हो। सॉलिसिटर जनरल ने आरोप लगाया कि कोलकाता में रविवार रात वरिष्ठ पुलिसकर्मी वर्दी पहने हुए नेताओं के साथ धरने पर बैठे थे। सरकारी वकील ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस कमिश्नर सबूतों को नष्ट कर सकते हैं। इसपर चीफ जस्टिस ने सीबीआई अपने दावे के समर्थन में मार्शल ऑन रिकॉर्ड को लाने की अनुमति है। कोर्ट ने यह भी कहा कि यदि सीबीआई ऐसा प्रमाण लाकर देती है कि सबूत नष्ट किए जा रहे हैं तो हम उनपर कड़ी कार्रवाई करेगी। जिसका उन्हें पछतावा होगा।

सीबीआई की तरफ से कोर्ट में पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा, ‘हमारी टीम को गिरफ्तार किया गया और गैरकानूनी कस्टडी में रखा गया। कोलकाता पुलिस कमिश्नर को तुरंत आत्मसमर्पण करना चाहिए।’ सुनवाई के दौरान मेहता ने कोर्ट से कहा कि वह कोलकाता के कमिश्नर को शळारदा चिटफंड मामले में सहयोग करने के लिए निर्देश दें। जिसपर कोर्ट ने कहा कि वह मामले की सुनवाई कल करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *