राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन 9 मार्च को

लुधियाना, ( हरीश कुमार ) – ज़िला लुधियाना और इस की सब डिवीजनों में 9 मार्च, 2019 दिन शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन किया जा रहा है। इन अदालतों के आयोजन से जहाँ लोगों के मामलों का निपटारा आम सहमति और थोड़े समय में हो जायेगा वहीं इससे समय और पैसा भी बचेगा। यह लोक अदालतें राष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक अदालत में एक ही दिन लगाई जा रही हैं। यह अदालतें ज़िला कचेहरी लुधियाना, खन्ना, जगरांओ, समराला और पायल में लगाई जा रही हैं। चीफ़ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट- कम- सचिव ज़िला कानूनी सेवाएं अथारटी डा. गुरप्रीत कौर ने बताया कि लंबे समय से अदालती चक्करों में पड़े लोग अब बड़े नुकसान से बचने के लिए आम सहमति से मामले निपटाने को प्राथमिकता देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ज़िला और सैशन जज और अतिरिक्त ज़िला और सैशन जज की अदालतों में हर किस्म के दीवानी, मैट्रिमोनियल, किराया अपील, मोटर एक्सीडेंट दावा, ज़मीन कब्ज़े, अपराधिक अपीलों ( सिर्फ़ कम्पाऊंडेबल केस) और समझौता योग्य केस आदि के निपटारे आम सहमति के साथ करवाए जाएंगे। सिविल मामलों में जैसे किराये से सम्बन्धित मामले, बैंक रिकवरी, माल विभाग के साथ सम्बन्धित मामले, मगनरेगा मामले, बिजली और पानी बिल के मामले ( चोरी के अतिरिक्त), नौकरी पेशे मामलो में तनख़्वाह और बकाया भत्तों के मामले, पैंशन और सेवामुक्ति लाभ मामले, जंगलात एक्ट के साथ सम्बन्धित मामले, कुदरती आपदा के साथ सम्बन्धित मुआवज़ा मामले, नैगोशीएबल इंस्ट्रूमैंट्स एक्ट की धारा 138 के अंतर्गत शिकायतों के मामले सिविल जज/ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेटों की अदालतों में विचारे जाएंगे। लोक अदालत में केस की सुनवाई के लिए कोई कोर्ट फीस नहीं लगती और यदि लोक अदालत के द्वारा मामले का निपटारा होता है तो अदा की गई कोर्ट फीस की वापसी को भी यकीनी बनाया जाता है। उन्होंने कहा कि जिन मामलों का निपटारा लोक अदालतों में हो जाता है उनके ख़िलाफ़ आगे अपील नहीं डाली जा सकती और लोक अदालतों के द्वारा मामलों का निपटारा जल्दी और दोस्ताना तरीके से होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *