पंजाब सरकार की घर -घर रोजगार योजना के सकारात्मक परिणाम आने का सिलसिला जारी

-मल्टी स्किल डेवलेपमेंट सैंटर लुधियाना के सी. एन. सी. आपरेटर पाठयक्रम के ज्यादातर प्रशिक्षुओं को मिली नौकरी


लुधियाना, ( अरुण जैन )-पंजाब सरकार की तरफ से घर -घर रोजगार योजना के अंतर्गत जहाँ नौजवानों को उनकी काबलीयत मुताबिक कौशल सिखाया जा रहा है वहीं उन्हें उनकी योग्यता मुताबिक नौकरियाँ भी मुहैया करवाई जा रही हैं। पंजाब सरकार की इस घर -घर रोजगार योजना से बेहतर सकारात्मक परिणाम आने का सिलसिला जारी है। गिल रोड पर चल रहे मल्टी स्किल डेवलेपमेंट सैंटर के सी. एन. सी. आपरेटर पाठयक्रम के ज्यादातर प्रशिक्षुओं को पाठयक्रम के समाप्त होते ही शहर की विभिन्न औद्योगिक इकाईयों की तरफ से नौकरी पर रख लिया गया है।संस्थान में इस पाठयक्रम के एक बैच में 26 प्रशिक्षार्थियों ने प्रशिक्षण लिया था, जिसमें से 12 प्रशिक्षार्थियों को हाईवेज इंडस्ट्रीज ने, 6 प्रशिक्षार्थी को येरिक इंटरनेशनल कंपनी और 2 प्रशिक्षुओं को मैचवैल कंपनी ने नौकरी प्रदान की है। जबकि बाकी प्रशिक्षुओं ने स्वरोजगार की तरफ जाने का फैसला किया है और उन्हें संस्था और जिला प्रशासन की तरफ से हर संभव सहयोग दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी जितने बैच अपना प्रशिक्षण मुकम्मल करके गए हैं, उनके ज्यादातर प्रशिक्षुओं को तुरंत नौकरी मिल रही है, बाकी रहते शिक्षार्थी अपना रोजगार शुरू कर लेते हैं। संस्थान के इंचार्ज श्री पुष्कर मिश्रा और पाठयक्रम के इंस्ट्रक्टर स. जतिन्दरपाल सिंह ने बताया कि यह संस्था मार्च 2017 में शुरू हुई थी, इस दौरान यहाँ शिक्षा हासिल करने वाले 70 प्रतिशत विद्यार्थियों को नौकरी मिल गई है और वह बढ़िया वेतन ले रहे हैं। जबकि 30 प्रतिशत विद्यार्थी अपना रोजगार शुरू करने की तरफ गए हैं। उन्होंने कहा कि सी. एन. सी. आपरेटर पाठयक्रम के पास विद्यार्थियों को शुरुआत में ही 13500 रुपए प्रति महीना तनख्वाह मिलेगी, जो कि धीरे -धीरे तजुर्बे के साथ बढ़ती जायेगी। ओवरटाइम अलग मिलता है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार के आदेशों की पालना करते हुए उनकी संस्था नौजवानों को उनकी योग्यता मुताबिक कुशल बनाने और नौकरी दिलाने के लिए दृढ़ प्रयत्नशील है। उन्होंने कहा कि संस्था की तरफ से शिक्षार्थियों को कम समय वाले 8 पाठयक्रम बिल्कुल मुफ्त करवाए जा रहे हैं। इसके साथ ही वर्दी, प्रशिक्षण और अन्य शिक्षा सामग्री बिल्कुल मुफ्त मुहैया करवाई जाती है। दाखिला लेने वाले विद्यार्थी 10वीं या 12वीं पास होने जरूरी हैं। यहाँ यह भी विशेष तौर पर बताने योग्य है कि पंजाब सरकार ने अपने कार्यकाल दौरान घर -घर रोजगार योजना के अंतर्गत राज्य भर के 8.21 लाख नौजवानों को नौकरी (सरकारी या निजी) मुहैया करवाई है या स्वरोजगार के साथ जोड़ा है। श्री पुष्कर ने कहा कि संस्थान में दो नये पाठयक्रम असिस्टेंट इलेक्ट्रीशियन और रैफरीजीरेशन एयर कंडीशनड वाशिंग शुरू किये गए हैं। इन सभी पाठयक्रमों के लिए दाखिले शुरू हो चुके हैं। शिक्षार्थी को इनें पाठयक्रमों में दाखिला ले कर अपने पैरों पर खड़े होने के लिए प्रयास करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *